breakingछत्तीसगढ़

Bageshwar Dham: बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री ने बनाई अपनी पार्टी,जाने क्या कहा उन्होंने …

Bageshwar Dham Sarkar:बागेश्वर धाम सरकार धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पिछले एक हफ्ते से विवादों में चल रहे हैं  ऐसे में इनके संघर्ष का गढ़ छत्तीसगढ़ बन गया है. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री सोमवार को रायपुर से छतरपुर लौट आए, लेकिन रास्ते में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने एक ऐसा बड़ा बयान दिया की, जिससे देश में कोहराम मच सकता है. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि बागेश्वर धाम सरकार ने लोगों से हिंदू राष्ट्र के लिए व्यास पीठ से माला और भाले उठाने की अपील की है. इसके अलावा उन्होंने अपनी ही पार्टी को लेकर भी स्थिति स्पष्ट की है.

Bageshwar Dham: बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री ने बनाई अपनी पार्टी,जाने क्या कहा उन्होंने …

दरअसल, धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का सीता-राम विवाह कथा 17 जनवरी से 23 जनवरी तक रायपुर में हुई। इस बीच उनका यह बयान देश भर में सुर्खियों में रहा। 23 जनवरी को रायपुर से जाते समय उन्होंने कहा था कि ‘तुम मेरा साथ दो हम बनाएंगे हिंदू राष्ट्र’. यह कथन उन्होंने कथा स्थल पर ही बैठकर लाखों की भीड़ को संबोधित करते हुए कहा। इसके बाद देश में इस बयान को लेकर एक बार फिर से चर्चा शुरू हो गई है. क्या है ये पूरा मामला आइए आपको बताते हैं।

‘आप मेरा साथ दें, हम हिंदू राष्ट्र बनाएंगे’

सोमवार को सीताराम कथा के दौरान धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कहा कि आज (23 जनवरी) भारत के महान पुरुष सुभाष चंद्र बोस की जयंती है. सुभाष चंद्र बोस का नारा था तुम मुझे खून दो मैं, मैं तुम्हें आजादी दूंगा, लेकिन हमने इसे नया नारा बना दिया है। आप मेरा साथ दें हम हिन्दू राष्ट्र बनाएंगे। भारत के लोग अब चूड़ी पहन कर घर नहीं बैठते। यह सिर्फ बागेश्वर धाम पर उंगली उठाने की बात नहीं है, यह एक-एक बच्चे पर उंगली उठाने की बात है। अब मुझे बाहर जाकर बताना होगा। अब ये सुनने के बाद अगर तुम बाहर नहीं आए तो हम तुम्हें बेवकूफ समझेंगे.’

Bageshwar Dham: बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री ने बनाई अपनी पार्टी,जाने क्या कहा उन्होंने …

क्या है धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का चमत्कार?

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने आगे भक्तों से कहा कि इस नारे को घर-घर पहुंचाएं। रायपुर की धरती को भारत के लोग कहते हैं। ऐसा कोई नहीं है जिस पर ऊंगली न उठी हो। मीरा बाई हों, रैदास हों, कबीर हों या संत तुलसीदास, इन सभी को कसौटी पर खरा उतरना था। यहां तक ​​कि भगवान ब्रह्मा को भी कसौटी पर खरा उतरना पड़ा। आज मैं आपको इस व्यास पीठ की शपथ दिलाता हूं। बड़े-बूढ़े पूछते थे चमत्कार क्या है? पहला चमत्कार यह है कि भारत के हिंदू एक हो गए। दूसरा चमत्कार जो देखा जा रहा है वह है दरबार में आना और तीसरा चमत्कार है हमारी प्रार्थनाओं को व्यर्थ न जाने देना।

क्या धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री बनाएंगे अपनी पार्टी?

धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने आगे कहा कि अगर आपमें एक बूंद भी कट्टर हिंदू है तो मैं आपके साथ हिंदू राष्ट्र बनाऊंगा। न मुझे राजनेता बनना है, न किसी पार्टी के बारे में सोचूंगा, न किसी पार्टी को सपोर्ट करूंगा। हम केवल रूढ़िवादी लोगों के बारे में बात करेंगे। हंगामा होता है तो होने दो। भारत का हर संत हमारे साथ है, यह हमारा सौभाग्य है। ऐसा कोई साधु नहीं है जो हमारे साथ नहीं है, यह छिपाने की बात नहीं है। बागेश्वर धाम तो बहाना था, वास्तव में सनातन विरोधियों को निशाना बनाना था। बालाजी ने उसे ऐसा थप्पड़ मारा कि उसके होश उड़ गए। सुभाष चंद्र बोस ने आजाद हिन्दुस्तान की घोषणा की। आज हम यह भी घोषणा करते हैं कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है।

आरोप अंधविश्वास फैलाने का था

गौरतलब है कि धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने रायपुर में 17 से 23 जनवरी तक सीताराम की कथा सुनाई। प्रतिदिन लाखों लोग कथा सुनने आते थे। इससे पहले धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री नागपुर में कथा सुनाने गए थे। तब अंधविश्वास उन्मूलन समिति ने शास्त्री पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया था। इसको लेकर देश में हंगामा मच गया था। संतों ने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का समर्थन किया तो कुछ ने इसका विरोध किया। इस पर अब भी विवाद है।

यह भी देखे :Sahara Indea 2023: सहारा निवेशकों के लिए बड़ी खुशखबरी! डूबा हुआ पैसा पाने के लिए जल्द करे ये काम…

यह भी देखे : स्कूल-कॉलेज बंद,बड़ा ऐलान,जानिए

यह पोस्ट आपको कैसा लगा ?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

नई ताक़त न्यूज़

देश का तेजी से बढ़ता विश्वसनीय दैनिक न्यूज़ पोर्टल। http://naitaaqat.in/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button