breakingराज्य

Punjab Politics: कैप्टन अमरिंदर, सुनील जाखड़ और स्वतंत्र देव सिंह भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने

Punjab Politics: भाजपा ने पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पूर्व सांसद सुनील जाखड़ को राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य नियुक्त किया।

कांग्रेस पर हमलावर रहे पंजाब के इन दोनों दिग्गजों को बीजेपी ने कैप्टन अमरिंदर सिंह और सुनील जाखड़ को राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाया है.

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पूर्व सांसद सुनील जाखड़ को शुक्रवार (2 दिसंबर, 2022) को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य नियुक्त किया गया। इसके साथ ही कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता जयवीर शेरगिल को भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किया गया।

वहीं, बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में राणा गुरमीत सोढ़ी, मनोरंजोत कौर रामूवालिया और अमनजोत कौर रामूवालिया को विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया गया है. इसके अलावा यूपी बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को भी राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बनाया गया है.

Punjab Politics: पार्टी ने भाजपा की उत्तराखंड इकाई के पूर्व अध्यक्ष मदन कौशिक, पार्टी की छत्तीसगढ़ इकाई के पूर्व अध्यक्ष विष्णुदेव साय और भाजपा की पंजाब इकाई के पूर्व अध्यक्ष मनोरंजन कालिया को राष्ट्रीय कार्यसमिति का विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया है. भारतीय जनता पार्टी ने एक बयान जारी कर कहा कि इस फैसले को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है.

सुनील जाखड़ ने कांग्रेस से पांच दशक पुराना रिश्ता तोड़ बीजेपी में शामिल हुए: पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ मई 2022 में अपने परिवार का कांग्रेस से पांच दशक पुराना रिश्ता तोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे. बीजेपी में शामिल होने के बाद जाखड़ ने कहा था, ‘मेरे परिवार की तीन पीढ़ियों ने पिछले 50 सालों से कांग्रेस पार्टी की सेवा की है. आज मैंने पंजाब में राष्ट्रवाद, एकता और भाईचारे के मुद्दों पर कांग्रेस से पांच दशक पुराना रिश्ता तोड़ दिया है। अब मैं पंजाब में भाजपा के साथ राष्ट्रवाद, एकता और भाईचारे की राजनीति करूंगा।

Punjab Politics: हिंदू होने के कारण लगाए थे सीएम नहीं बनाए जाने के आरोप: दरअसल, कांग्रेस की अनुशासन समिति ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में जाखड़ को दो साल के लिए निलंबित करने की सिफारिश की थी. जिसके बाद उन्हें सभी पदों से हटा दिया गया था। सुनील जाखड़ ने आरोप लगाया था कि ज्यादातर विधायक कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद उनके समर्थन में हैं। लेकिन उन्हें सिर्फ इसलिए सीएम नहीं बनाया गया क्योंकि वह हिंदू थे। उन्होंने आरोप लगाया कि इसके पीछे अंबिका सोनी का हाथ है, जिन्होंने कहा था कि पंजाब में एक सिख मुख्यमंत्री होना चाहिए।

मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने के बाद अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा दूसरी ओर, पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह सितंबर 2022 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। इसके साथ ही कैप्टन ने 2021 में बनी अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का भी भाजपा में विलय कर दिया। सितंबर 2021 में मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

यह भी देखे: UP NEWS : जिंदगी की जंग हार गया माली, DDU के साढ़े तीन सौ आउसोर्सिंग कर्मचारियों को मई से नहीं मिली सैलरी

यह भी देखे: Most Expensive City New York: दुनिया का सबसे महंगा शहर की लिस्ट में न्यूयॉर्क, तथा भारत के ये 3 शहर भी हैं लिस्ट में शामिल

यह पोस्ट आपको कैसा लगा ?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

नई ताक़त न्यूज़

देश का तेजी से बढ़ता विश्वसनीय दैनिक न्यूज़ पोर्टल। http://naitaaqat.in/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button