Investment: अमेरिका-इंग्लैंड नहीं इस देश ने भारत में किया भारी निवेश; यकीन न हो तो आंकड़े देख लीजिए

Share this

Investment: विदेशी निवेशकों को भारत पर भरोसा है. अमेरिका-इंग्लैंड को पछाड़ने के बाद अब नया देश भारत में भारी निवेश कर रहा है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में ज्यादातर विदेशी निवेश अमेरिका या इंग्लैंड से नहीं बल्कि सिंगापुर से आ रहा है। पिछले वित्त वर्ष 2023-24 में भारत को सिंगापुर से सबसे ज्यादा एफडीआई मिला है–Investment

ये भी पढ़े :World Bicycle Day: क्या आप जानते हैं विश्व साइकिल दिवस की शुरुआत कब हुई? किस देश को साइकिल राजधानी कहा जाता है? जाने

इस वजह से विदेशी निवेशक भारत आ रहे

विशेषज्ञों के मुताबिक, भारत-मॉरीशस कर संधि में संशोधन के बाद सिंगापुर भारत में निवेश के लिए पसंदीदा क्षेत्र बनकर उभरा है। डेलॉयट इंडिया की अर्थशास्त्री रुमकी मजूमदार के अनुसार, दुनिया के प्रमुख वित्तीय केंद्रों में से एक के रूप में, सिंगापुर उन वैश्विक निवेशकों को आकर्षित करता है जो एशिया में निवेश करना चाहते हैं।

भारत की हालिया पहल जैसे आरईआईटी विनियम 2014 में संशोधन ने सिंगापुर स्थित निवेशकों के लिए नए अवसर पैदा किए हैं। यही कारण है कि भारत को सिंगापुर से अधिक एफडीआई मिल सकता है। उन्होंने यह भी उम्मीद जताई कि 2024-25 की दूसरी छमाही में भारत में एफडीआई में तेजी आएगी।

ये भी पढ़े :Prime Minister Modi: प्रधानमंत्री मोदी से मिले सीएम नीतीश कुमार, नतीजों से पहले इस मुलाकात के क्या हैं मायने?

Ramesh Kumar
Author: Ramesh Kumar

Leave a Comment

x