Share Market: एग्जिट पोल के नतीजों से रॉकेट के स्पीड से दौड़ा मार्केट, खुलते ही बना नया रिकॉर्ड

Share this

Share Market: लोकसभा चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजों ने शेयर बाजार में जोश भर दिया है. शुक्रवार को आए एग्जिट पोल के नतीजों और जीडीपी डेटा के बाद कारोबारी हफ्ते के पहले दिन और चुनावी नतीजों से पहले शेयर बाजार (Share Market) में बंपर तेजी देखने को मिली है। सोमवार को कारोबारी सत्र की शुरुआत में सेंसेक्स और निफ्टी दोनों हरे निशान के साथ खुले। बाजार खुलते ही सेंसेक्स 2000 अंक और निफ्टी 500 अंक उछल गया है। एग्जिट पोल में एनडीए की वापसी के संकेत मिलने के बाद विदेशी निवेशकों ने जमकर खरीदारी की। इस दौरान इंफ्रा, पीएसयू और बैंकिंग शेयरों में तूफानी तेजी देखने को मिल सकती है–Share Market

निफ्टी 800 पॉइंट उछला

वहीं निफ्टी इंडेक्स भी 800 अंक से ज्यादा की बढ़त के साथ 23,337 अंक पर खुला। हालांकि, कुछ देर बाद यह 577 अंक की बढ़त के साथ 23,107 अंक पर कारोबार करता देखा गया. निफ्टी शेयरों में अडाणी पोर्ट के शेयर सबसे ज्यादा करीब 9 फीसदी चढ़े. इससे पहले शुक्रवार को कारोबारी सत्र में निफ्टी 22500 के आसपास बंद हुआ था।

मार्केट खुलते ही रॉकेट बने ये शेयर

शेयर बाजार में तूफानी तेजी के बीच बीएसई के सभी 30 शेयरों में जोरदार तेजी देखी गई. लार्ज कैप में सबसे ज्यादा बढ़त वाले शेयरों में पावर ग्रिड (5.44%), एनटीपीसी (5.21%), एमएंडएम (5.00%), एसबीआई (4.51%), एलएंडटी (4.38%), इंडसइंड बैंक (4.15) में तेजी देखने को मिल रही है |

मिडकैप में आरईसी लिमिटेड 7.50%, श्रीराम फाइनेंस 7.07%, हिंद पेट्रो 7.03%, पीएफसी 6.78% और आईआरएफसी 5.65% शामिल हैं।

स्मॉल कैप शेयरों की बात करें तो इस श्रेणी में शामिल प्रवेग शेयर 10 फीसदी, मोस्चिप 9.98 फीसदी, आईआरबी 8.44 फीसदी और जेडब्ल्यूएल 8.43 फीसदी की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा था।

इन शेयरों में है सबसे ज्यादा तेजी

सेंसेक्स के 30 शेयरों में पावरग्रिड, एनटीपीसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एसबीआई और एलएंडटी में आज सबसे ज्यादा तेजी देखी गई। वहीं, निफ्टी इंडेक्स में अदानी पोर्ट, श्रीराम फाइनेंस, अदानी एंटरटेनमेंट, पावर ग्रिड और बीपीसीएल पांच फीसदी से ज्यादा बढ़त के साथ ट्रेंड कर रहे हैं। इसके अलावा बैंक निफ्टी और निफ्टी फाइनेंस में भी तेजी देखी जा रही है।

ये भी पढ़े :वेतन वृद्धि की मांग करने में भारतीय महिलाएं विकसित देशों से भी आगे

Ramesh Kumar
Author: Ramesh Kumar

Leave a Comment

x