MP NEWS – तीन घंटे से पहले परीक्षार्थी अपने साथ नहीं ले जा सकेगा प्रश्न पत्र , बोर्ड परीक्षा को लेकर शिक्षा विभाग से लेकर शासन-प्रशासन अलर्ट मोड

Share this
  • तीन घंटे से पहले परीक्षार्थी अपने साथ नहीं ले जा सकेगा प्रश्न पत्र

  •  बोर्ड परीक्षा को लेकर शिक्षा विभाग से लेकर शासन-प्रशासन अलर्ट मोड

  •  परीक्षार्थियों को प्रश्नपत्र के अलग-अलग सेट मिलेंगे

BHOPAL NEWS  (ईएमएस)। बोर्ड परीक्षा (board exam) का समय नजदीक आ रहा है। इसको लेकर education Department  से लेकर शासन-प्रशासन अलर्ट मोड पर आ चुका है। परीक्षा केंद्रों पर किसी भी सूरत में नकल ना हो इसको लेकर विशेष इंतजाम किए गए हैं। परीक्षार्थियों को चार सेट में पेपर मिलेंगे जो सेट आगे के विद्यार्थी पर होगा उसके आसपास के विद्यार्थी पर दूसरा सेट होगा जिससे वह एक-दूसरे से पूछकर प्रश्न हल न कर सकें। इसके साथ ही अब कोई भी विद्यार्थी परीक्षा समय समाप्त होने के बाद ही प्रश्न पत्र अपने साथ ले जा सकेगा।

असल में  Board of Secondary Education ने पांच फरवरी से शुरू हो रही सत्र 2023-24 की High School और higher secondary की बोर्ड परीक्षा में छात्र-छात्राएं नकल नहीं कर सकें, इसके लिए एक प्रयोग किया है। इसके साथ शासन ने अपील की है internet media  पर पेपर लीक की भ्रामक सूचना देता है तो पुलिस में शिकायत करें। असल में प्रश्न-पत्र ए, बी, सी, डी सेट में तैयार किए गए हैं। पेपर में पूछे गए प्रश्न एक जैसे होंगे मगर क्रम अलग रहेगा। परीक्षा कक्ष में छात्र बैठक व्यवस्था 20-40-60 के रूप में होगी। पहली पंक्ति में बैठे छात्र को च्एज् सेट का पहला पेपर, इसके बाद बी, सी, डी, दूसरी पंक्ति के पहले छात्र को च्सीज् सेट का पहला पेपर दिया जाएगा। तीसरी रो में च्एज् सेट व चौथी रो में च्सीज् सेट के पेपर से शुरूआत होगी।

मोबाइल परीक्षा हाल में प्रतिबंधित

परीक्षा हाल में इलेक्ट्रोनिक गेजेट्स लेकर कोई भी छात्र नहीं जाएगा। इसके लिए पहले ही चेकिंग की जाएगी और पूरी जांच पड़ताल के बाद ही छात्र को परीक्षा हाल में प्रवेश दिया जाएगा। केंद्र पर कलेक्टर प्रतिनिधि की देखरेख में ही प्रश्न पत्र का बाक्स खोला जाएगा। प्रश्न पत्र खोलने से पहले केंद्राध्यक्ष, सहायक केंद्राध्यक्ष, पर्यवेक्षक व अन्य स्टाफ के मोबाइल स्विच आफ कराए जाएंगे तथा इन मोबाइल को अलमारी में बंद कर सील कर दिया जाएगा। जो परीक्षा समाप्ति के बाद ही मिलेंगे।

 

 

https://naitaaqat.in/?p=166553

Leave a Comment

x