World Malaria Day: आज है विश्व मलेरिया दिवस, जानें इसका इतिहास

Share this

World Malaria Day: विश्व मलेरिया दिवस हर साल 25 अप्रैल को मनाया जाता है। यह दिन इस बात के लिए भी जाना जाता है कि मलेरिया पर नियंत्रण के लिए किस तरह के वैश्विक प्रयास किये जा रहे हैं। मच्छर जनित इस बीमारी से हर साल लाखों लोग मर जाते हैं। ‘प्रोटोज़ोअन प्लाज़मोडियम’ नामक रोगाणु मादा एनोफ़ेलीज़ मच्छरों के माध्यम से फैलते हैं—World Malaria Day

विश्व मलेरिया दिवस विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा चिह्नित 8 आधिकारिक वैश्विक सामुदायिक स्वास्थ्य अभियानों में से एक है। इनमें विश्व स्वास्थ्य दिवस, विश्व रक्तदाता दिवस, विश्व टीकाकरण सप्ताह, विश्व क्षय रोग दिवस, विश्व तंबाकू निषेध दिवस, विश्व हेपेटाइटिस दिवस और विश्व एड्स दिवस शामिल हैं।

History of World Malaria Day

विश्व मलेरिया दिवस की शुरुआत 2000 में हुई, जब इसे अफ़्रीका मलेरिया दिवस के नाम से जाना जाता था। इसके बाद साल 2008 में इसका नाम बदलकर विश्व मलेरिया दिवस कर दिया गया. यह विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा आयोजित विश्व स्वास्थ्य सभा के 60वें सत्र के दौरान किया गया था।

Theme of World Malaria Day

विश्व मलेरिया दिवस मनाने के लिए हर साल एक नई थीम रखी जाती है। इस वर्ष विश्व मलेरिया दिवस की थीम “अधिक न्यायपूर्ण दुनिया के लिए मलेरिया के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाना” है। यह विषय इस बात पर जोर देता है कि मलेरिया को कम करने की प्रगति रुक ​​गई है। मलेरिया न केवल स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा रहा है और लोगों की जान ले रहा है, बल्कि यह असमानता का एक दुष्चक्र भी कायम कर रहा है।

Importance of World Malaria Day

विश्व मलेरिया दिवस मनाने के पीछे का उद्देश्य लोगों को इस घातक बीमारी के प्रति जागरूक करना है। ताकि हर साल मलेरिया से होने वाली लाखों मौतों को रोका जा सके….!!

ये भी पढ़े :PM Modi: पीएम मोदी के भाषण, मुसलमानों पर पीएम के बयान के खिलाफ चुनाव आयोग ने शुरू की जांच

Ramesh Kumar
Author: Ramesh Kumar

Leave a Comment