PM Modi: पीएम मोदी ने दी सौगात, देश के सबसे लंबे केबिल ब्रिज का किया उद्धघाटन

Share this

PM Modi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात को बड़ी सौगात दी, प्रधान मंत्री ने ओखा मुख्य भूमि और द्वारका द्वीप को जोड़ने वाले लगभग 2.32 किमी लंबे देश के सबसे लंबे केबल-आधारित पुल, सुदर्शन सेतु का उद्घाटन किया। पहले इसे सिग्नेचर ब्रिज के नाम से जाना जाता था लेकिन अब इस ब्रिज का नाम बदलकर सुदर्शन सेतु या सुदर्शन सेतु कर दिया गया है।

अपने ‘ड्रीम प्रोजेक्ट’ ओखा-बेट द्वारका सिग्नेचर ब्रिज का उद्घाटन करने से पहले प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने कहा कि यह गुजरात की विकास यात्रा के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर होगा। सुदर्शन सेतु का उद्घाटन करने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार सुबह गुजरात के बेट द्वारका मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना की.

शनिवार को एक सोशल मीडिया पोस्ट में, पीएम मोदी ने कहा, “कल गुजरात के विकास पथ के लिए एक विशेष दिन है, उद्घाटन की जाने वाली कई परियोजनाओं में ओखा मुख्य भूमि और बेट द्वारका को जोड़ने वाला सुदर्शन ब्रिज भी शामिल है। यह एक अद्भुत परियोजना है जो कनेक्टिविटी को बढ़ाएगी।”

सुदर्शन सेतु की खासियत

2.5 किमी लंबा यह पुल प्रसिद्ध द्वारकाधीश मंदिर में आने वाले भक्तों और तीर्थयात्रियों दोनों के लिए बहुत महत्व रखता है। इस पुल का शिलान्यास केंद्र ने 2017 में किया था. इसका उद्देश्य ओखा और बेट द्वारका के बीच आने-जाने वाले भक्तों के लिए पहुंच को सुविधाजनक बनाना है। इसके निर्माण से पहले, तीर्थयात्रियों को बेट द्वारका में द्वारकाधीश मंदिर तक पहुंचने के लिए नावों पर निर्भर रहना पड़ता था। 2.5 किलोमीटर लंबे इस पुल का निर्माण 978 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है।

सिग्नेचर ब्रिज एक अद्वितीय डिजाइन का दावा करता है, जिसके दोनों तरफ फुटपाथ भगवद गीता के श्लोकों और भगवान कृष्ण की छवियों से सजाए गए हैं। इसे भारत का सबसे लंबा केबल-आधारित पुल होने का गौरव भी प्राप्त है, जिसमें फुटपाथ के ऊपरी हिस्से पर सौर पैनल लगाए गए हैं, जो एक मेगावाट बिजली पैदा करते हैं।

यह भी पढ़े: MP News: भिंड RSS कार्यालय में पिन बम मिलने से मचा अफरा-तफरी

Ramesh Kumar
Author: Ramesh Kumar

Leave a Comment