Weather News Toady – आसमान में बादल छाए, बूंदाबांदी के आसार ,ऊपरी हवाओं ने फिर बनाया चक्रवात

Share this

जबलपुर । जम्मू-कश्मीर(Jammu and Kashmir) और पंजाब व पश्चिमी राजस्थान में बने हवाओं के ऊपरी चक्रवात के कारण पूर्वी और पश्चिमी मध्यप्रदेश (MP) में बादलों ने फिर आमद दर्ज करा दी है। लिहाजा प्रदेश के कई स्थानों पर बूंदाबांदी के आसार बन गए हैं। एक बार फिर हवाओं का चक्रवाती घेरा बन गया। शनिवार को सुबह से आसमान पर हल्के बादल छाए रहे। शाम को फिर बादल छा गए थे। बादलों की आहट से तापमान में गिरावट आई और दिन का तापमान औसात से तीन डिग्री नीचे आ गया। दिन भर वातावरण शीतल बना रहा।

स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के प्रवक्ता ने बताया कि उड़ीसा के समुद्री तट और पश्चिमी राजस्थान में हवाओं का चक्रवाती घेरा बन गया है। जिसका असर पूर्वी और पश्चिमी मध्यप्रदेश के ऊपर देखा जा रहा है। ऊपरी हवाओं के चक्रवात के कारण आसमान पर एक बार फिर बादल मंडराने लगे हैं। अब ये प्रदेश में कहां बरस जाएं कुछ कहा नहीं जा सकता। कुछ स्थानों पर तेज वर्षा तो कहीं बूंंदाबांदी हो सकती है। वहीं हवा में नमी घट गई है। मौसम विज्ञान केन्द्र का कहना है कि अगले २४ घंटों के दौरान संभाग के अनेक स्थानों पर आसमान में बादल छाये रहेंगे और हल्की बूंदाबांदी हो सकती है।

 

पिछले २४ घंटों के दौरान नगर का अधिकतम तापमान २४.३ डिग्री सेल्सियस सामान्य से ३ डिग्री कम और न्यूनतम तापमान १०.०२ डिग्री सेल्सियस सामान्य से ३ डिग्री कम दर्ज किया गया। हवा में नमी प्रातःकाल ६४ प्रतिशत और सायंकाल ४५ प्रतिशत आंकी गई। उत्तरी हवायें की रफ्तार ४ से ५ किमी प्रति घंटे की रही। सूर्योदय सुबह ६.४५ बजे हुआ, जबकि सूर्यास्त ६.०३ बजे हुआ। प्रदेश में सबसे कम ४.१ डिग्री तापमान छतरपुर जिले में दर्ज किया गया। गत वर्ष आज के दिन अधिकतम तापमान ३१.१ डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान ११.५ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अगले २४ घंटों के दौरान संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बारिश की संभावना है।

 

 

Paytm company के लिए मुसीबत , आरबीआई के बाद अब EPFO ​​ने भी लेनदेन पर लगाई रोक, जानिए क्या होगा इसका असर?

Ramesh Kumar
Author: Ramesh Kumar

Leave a Comment