मुझे मरवाना चाहते हैं अखिलेश यादव, आखिर क्यों लगाया कन्नौज सांसद सुब्रत पाठक ने आरोप?

Share this

कन्नौज में कार्यकर्ता सम्मेलन में अखिलेश यादव की मौजूदगी में मंच से सांसद सुब्रत पाठक पर सपा नेता मनोज दीक्षित के बयान का मामला तूल पकड़ गया है. सांसद ने अखिलेश पर धमकी देने का आरोप लगाया है. कन्‍नौज में सपा के कार्यकर्ता सम्‍मेलन में सपा मुखिया अखिलेश यादव की मौजूदगी में मंच से सांसद सुब्रत पाठक पर सपा नेता मनोज दीक्षित के बयान का मामला तूल पकड़ गया है. सांसद के बयान के बाद राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है.

मंगलवार को कन्नौज में सपा का कार्यकर्ता सम्मेलन हुआ. इसमें मंच पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव समेत कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे. इस बीच मंच से कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सपा के पूर्व प्रदेश सचिव मनोज दीक्षित ने सांसद सुब्रत पाठक पर निशाना साधा. इस बयान का संज्ञान लेते हुए आयोग की वीडियो सर्विलांस टीम ने सदर कोतवाली में सपा नेता पर आचार संहिता के उल्लंघन की रिपोर्ट दर्ज कराई, जिसमें उन्होंने कहा कि उन्होंने मंच से भड़काऊ बयान दिया था और सांसद को धमकी दी थी.

इस मामले में बुधवार को सांसद सुब्रत पाठक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सपा मुखिया अखिलेश यादव पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व सीएम उन्हें जान से मारना चाहते हैं. उन्होंने जान से मारने की धमकी दी और सपा मुखिया ने उन पर झूठे आरोप भी लगाए. उन्होंने कहा कि अगर उन्हें कुछ हुआ तो इसके जिम्मेदार सपा मुखिया होंगे।मैं आ गया हूं

सुब्रत पाठक ने कहा कि अखिलेश के सामने धमकियां रखी गईं और वह ताली बजाते रहे. उन्होंने चुनाव आयोग से अखिलेश के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की. उनके मंच से कोई भी उनके इशारे के बिना कुछ नहीं बोल सकता. 2014 में अपनी पत्नी के खिलाफ और 2019 में कन्नौज से चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद भी सुब्रत पाठक ने कहा कि वह सिर्फ मेरे आने से मेरी जान-माल को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं.

कहा कि मुझे चुनाव नहीं लड़ने की धमकी दी गयी. मैं अपना फॉर्म वापस लेता हूं. इसके साथ ही सुब्रत पाठक ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अखिलेश ने जिस परिवारवादी, भ्रष्ट और अराजकतावादी राजनीति की शुरुआत कन्नौज से की थी, उसी के खिलाफ लड़ते-लड़ते आज यहां तक ​​पहुंच गए हैं. मैं नहीं डरता।

Awanish Tiwari
Author: Awanish Tiwari

Leave a Comment